Pak में बैठे खालिस्तानी ‘रिंडा’ ने रची मोहाली हमले की साजिश, 20 हिरासत में, ‘पिज्जा’ से मिला पहला सुराग, 7000 मोबाइल डेटा की होगी जाँच

रिंडा ही वो खालिस्तानी है जिसने हाल में ड्रोन से फिरोजपुर में विस्फोटकों को भिजवाया और इन्हीं विस्फोटकों को तेलंगाना लेकर जाते समय खालिस्तानी आतंकी गिरफ्तार हुए।

मोहाली हमला

पंजाब के मोहाली में हुए हमले के तार पाकिस्तान से जुड़ते मिल रहे हैं। पुलिस की प्राथमिक जाँच में सामने आया है कि जिस शख्स ने मोहाली के इंटेलिजेंस हेडक्वार्टर में अटैक कराया वो वांटेड गैंगस्टर हरविंदर सिंह उर्फ रिंडा है, जो पाकिस्तान में रहता है और भारत के खिलाफ आतंकी गतिविधियों को ऑपरेट करता है।

सूत्र बताते हैं कि रिंडा ही वो व्यक्ति है जिसने हाल में ड्रोन से फिरोजपुर में विस्फोटकों को भिजवाया और इन्हीं विस्फोटकों को तेलंगाना लेकर जाते समय खालिस्तानी आतंकी गिरफ्तार हुए। मोहाली पुलिस के वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने इस हमले को आतंकी हमला कहा है। पुलिस के अनुसार हमले में इस्तेमाल किया गया लॉन्चर मिल चुका है लेकिन उससे ज्यादा जानकारी नहीं मिल पाई है। इससे पहले इस मामले में सिख फॉर जस्टिस के गुरपतवंत सिंह पन्नू का नाम निकल कर सामने आया था। इस केस में अब तक 20 लोग हिरासत में लिए गए हैं। इनमें से एक अंबाला का भी है। माना जा रहा है कि इन्हीं संदिग्धों में से कुछ ने हमले के लिए अन्य सहायता मुहैया कराई।

टाइम्स ऑफ इंडिया के अनुसार, जाँचकर्ता मोबाइल टावरों के कॉन्टैक्ट में 6,000-7000 मोबाइल डेटा की पड़ताल कर रहे हैं। सीसीटीवी फुटेज के जरिए आरोपितों का पता लगाया जा रहा है। 10 से ज्यादा टीमें हमले की जाँच में लगी हैं। मोहाली पुलिस ने इस केस को आईपीसी की धारा 307,और UAPA की धारा 16 के तहत दर्ज किया है। मोहाली एसपी ने कहा है कि ये आतंकियों की साजिश थी कि वो पंजाब पुलिस के खुफिया तंत्र को निशाना बनाएँ।

पिज्जा डिलीवरी के कारण मिला मोहाली हमले का पहला सुराग

गौरतलब है कि इस पूरे केस का पहला सुराग पंजाब पुलिस को एक पिज्जा डिलीवरी के कारण मिला। दरअसल, हमले से पहले पंजाब इंटेलिजेंस का एक कर्मचारी पिज्जा डिलीवरी को रिसीव करने के लिए दफ्तर से बाहर आया हुआ था। इस दौरान उसने दफ्तर के बाहर एक सफ़ेद रंग की मारुति स्विफ्ट को खड़े हुए देखा, जो कि संदिग्ध नजर आ रही थी। जैसे ही इंटेलिजेंस कर्मचारी अपना पिज्जा का ऑर्डर लेकर अंदर जाने लगा, संदिग्धों ने कार से इंटेलिजेंस बिल्डिंग की तरफ एक ग्रेनेड दाग दिया और मौके से फरार हो गए। अब इस जानकारी के मिलने के बाद इलाके के सभी सीसीटीवी को खँगाला जा रहा है, ताकि संदिग्धों की पहचान की जा सके।

लश्कर-ए-खालसा

इसके अलावा ये भी खबर है कि पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी ISI ने पंजाब में आतंकवादी घटनाओं के लिए एक नए नाम से आतंकी गुट बनाया है। जानकारी के मुताबिक इस आतंकी गुट का नाम है – ‘लश्कर-ए-खालसा’। इस आतंकी गुट में शामिल दहशतगर्तों को अफगानिस्तान के लड़ाकू ट्रेनिंग दे रहे हैं। मीडिया रिपोट्स के अनुसार लश्कर-ए-खालसा में शामिल करने के लिए पंजाब और हरियाणा के स्थानीय गैंगस्टर और बदमाशों से संपर्क साधा जा रहा है। इसके लिए ड्रग्स के धंधे को भी जरिया बनाया जा रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *