अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस से 39 दिन पूर्व ‘योग उत्सव’ कार्यक्रम का आयोजन

अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस से 39 दिन पूर्व ‘योग उत्सव’ कार्यक्रम का आयोजन आज सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय, भारत सरकार के प्रेस इनफॉरमेशन ब्यूरो और रीजनल आउटरीच ब्यूरो पटना द्वारा कर्पूरी ठाकुर सदन, कार्यालय  परिसर में अपर महानिदेशक एस के मालवीय के नेतृत्व में किया गया।

इस ‘योग उत्सव’ के दौरान ट्रस्टी एवं अंतरराष्ट्रीय योग समन्वयक, ज्योतिर्मय ट्रस्ट-यूनिट ऑफ योग रिसर्च फाउंडेशन, मियामी, फ्लोरिडा, यू.एस.ए. से जुड़े योग प्रशिक्षक अवधेश झा ने अधिकारियों, कर्मचारियों एवं अतिथि प्रतिभागियों को योगाभ्यास कराया।

पीआईबी एवं आरओबी के अपर महानिदेशक एस के मालवीय ने ‘योग उत्सव’ कार्यक्रम को संबोधित करते हुये कहा कि योग एक प्राचीन भारतीय पद्धति है। योग में शरीर, मन और आत्मा को एक साथ लाने का काम होता है। योग के माध्यम से हम अपने आप को संपूर्ण रूप से स्वस्थ रह सकते है। शारीरिक और मानसिक स्वास्थ्य  हमें उर्जावान बनाये रखते हैं।

योगाभ्यास के दौरान योग प्रशिक्षक अवधेश झा ने योग  के प्रमुख आसनों -सुखासन ,पद्मासन, वज्रासन, सिद्धासान , प्रज्ञासन, पवनमुक्तासन, वृक्षासन, गोमुखासन, मर्कटासन, कटिचक्रासन समेत अन्य कई आसनों का आदि का अभ्यास कराया।  साथ हीं उन्होंने प्राणायाम के सैद्धांतिक व प्रायोगिक पहलुओं पर विस्तार से चर्चा की और कपालभाती, अनुलोम-विलोम, बाह्यप्राणायाम, भ्रामरीगुंजन व मर्मभ्रामरी जैसे विभिन्न प्राणायामों का अभ्यास भी कराया। इसके उपरांत उन्होंने ध्यान के माध्यम से अपनी सकारात्मक उर्जा को बढ़ाने की विधि बताते हुए इसका अभ्यास कराया।   

उन्होंने कहा कि योगासन और योग की मुद्राएं तन और मन दोनों को संचालित रखती हैं। साथ ही योग से हमें चिंता से मुक्ति, आपसी संबंधों में सुधार, अपार शांति, शरीर की प्रतिरोधक क्षमता में सुधार, वजन में कमी, सही समय पर सही निर्णय लेने की क्षमता, रोगों से छुटकारा जैसे कई अन्य लाभ भी प्राप्त होते है । योग के द्वारा न ही सिर्फ बीमारियों का उपचार किया जाता है, परंतु इसे अपना कर कई शारीरिक और मानसिक कमियों को भी दूर किया जा सकता है।

पीआईबी पटना के निदेशक दिनेश कुमार ने मौके पर कहा कि योग हमारी प्रतिरक्षा प्रणाली को मजबूत बनाता है और जीवन में नई-ऊर्जा का संचार करता है। योगासन तन व मन दोनों को शक्तिशाली एवं लचीला बनाए रखता है। आज के दौर में  तनाव एक महामारी का रूप ले चुका है। ऐसे में योग हमारे तनाव प्रबंधन में बहुत सहायक है। अतः योग हमारे दैनिक जीवन का एक अनिवार्य हिस्सा होना चाहिए। इस ‘योग उत्सव’ कार्यक्रम में पीआईबी पटना के सहायक निदेशक संजय कुमार सहित पीआईबी एवं आरओबी,पटना के  अधिकारियों, कर्मचारियों एवं आमंत्रित अतिथियों ने बढ़ –चढ़ कर हिस्सा लिया ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *